🌐🌐 बेरोज़गारी 🌐🌐



✍️आज हम बेरोज़गारी पर चर्चा करेंगे -

1. जिसमें हम बेरोज़गारी क्या है ?
2. बेरोज़गारी के प्रकार कितने है ? तथा इनकी विशेषताएं क्या - क्या है ?

" चाहने के बाद भी जॉब / नौकरी / रोजगार न मिलना बेरोज़गारी कहलाती हैं । "

[ ] बेरोज़गारी = श्रम बल - ( रोजगार + आंशिक रोजगार )
[ ] बेरोज़गारी दर = कुल बेरोजगार /कुल श्रम बल ×100
*** श्रम बल = जो रोजगार चाहते हैं या करते है ।

• पूर्ण रोज़गार --- एक साल में 200 दिन या उससे अधिक दिन काम करने को पूर्ण रोज़गार कहते हैं ।
• आंशिक रोजगार --- 100 दिन से अधिक तथा 200 दिन से कम काम करने को आंशिक रोज़गार कहते हैं ।
• बेरोजगार --- 100 दिन से कम काम को बेरोजगार कहते हैं ।

                                      बेरोज़गारी के प्रकार

  वैसे तो बेरोज़गारी के दो प्रकार होते हैं - (1)- अनैच्छिक बेरोज़गारी (2)- अनैच्छिक बेरोज़गारी ।

[ 1] अनैच्छिक बेरोज़गारी
----- " चाहने के बाद भी काम / वेतन न मिलना " इसके पांच प्रकार है ---
• चक्रीय बेरोज़गारी
• प्रच्छन्न बेरोज़गारी
• संरचनात्मक बेरोज़गारी
• मौसमी बेरोज़गारी
• आंशिक बेरोज़गारी

[ 2] स्वैच्छिक बेरोज़गारी ----- " व्यक्ति को अपने अनुसार वेतन न मिलने पर नौकरी छोड़ना "


🌲🌲________________🌲🌲

0/Post a Comment/Comments

Please read this site and then comments

Stay Conneted